EducationDaily Education News & Analysis - 18 April 2022

Daily Education News & Analysis – 18 April 2022

Daily Education News & Analysis: राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा 2021 लेवल 1 की फाइनल कट ऑफ जारी कर दी गई है। रीट भर्ती 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन आज से शुरू। रीट भर्ती 2021 पेपर लीक मामले में अब प्रवर्तन निदेशालय (ED) की एंट्री। ग्रीष्मावकाश में शिक्षक नहीं बैठ सकेंगे घर, दिया जाएगा प्रशिक्षण। परीक्षा से मिलेगा प्रवेश, खत्म हुई 12वीं में अंकों की बादशाहत।

DENA

रीट लेवल 1 की कट ऑफ जारी

शिक्षा विभाग ने रविवार को रीट लेवल 1 के 15500 पदों के लिए चयनित अभ्यर्थियों की सूची और कट ऑफ मार्क्स जारी कर दिए है। शिक्षा मंत्री बी.डी. कल्ला ने ट्वीट कर सभी चयनित अभ्यर्थियों को शुभकामनाएं दी। शिक्षा मंत्री ने कहा, राजस्थान प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय अध्यापक सीधी भर्ती 2021-22 के अंतर्गत रीट लेवल वन के 15,500 पदों पर 31 दिसम्बर, 2021 को जारी विज्ञप्ति के क्रम में रविवार को प्रोविजनल चयनित अभ्यर्थियों की सूची और कट ऑफ मार्क्स जारी कर दिए है। जारी सूची में अभ्यर्थी के नामवार चयन आदेश जारी हुए है। सूची को विभागीय वेबसाईट पर भी अपलोड कर दिया है। शिक्षा निदेशक गौरव अग्रवाल ने गैर अनुसूचित क्षेत्र और अनुसूचित क्षेत्र में सामान्य शिक्षा और विशेष शिक्षा के वर्गवार लिस्ट जारी की है। चयनित अभ्यर्थीयों को शीघ्र ही जिला आवंटित कर नियुक्तियाँ दी जाएगी। रीट लेवल वन की वर्गवार कट ऑफ इस प्रकार है-

केटेगरीकट ऑफ मार्क्स
सामान्य (UR)133
ईडब्ल्यूएस (EWS)129
ओबीसी (OBC)131
एमबीसी (MBC)127
एससी (SC)125
एसटी (ST)117

रीट 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया आज से शुरू

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (REET) 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया सोमवार से शुरू हो चुकी है। रीट 2022 लेवल वन और लेवल टू के लिए आवेदन शुल्क 550 रुपये रखा गया है, तथा रीट लेवल सेकंड 2021 के अभ्यर्थी निशुल्क आवेदन फॉर्म भर सकेंगे। आवेदन फॉर्म की लास्ट डेट 18 मई 2022 है। रीट समन्वयक व सचिव मेघना चौधरी के अनुसार रीट 2022 की परीक्षा का आयोजन 23 व 24 जुलाई को करवाया जाएगा। रीट 2022 के लिए दोनों स्तर के लिए नवीनतम आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों के लिए आवेदन शुल्क 750 रुपये होगा।

रीट भर्ती 2021 पेपर लीक मामले में अब ED की एंट्री

रीट पेपर लीक धांधली मामले में अब केंद्रीय जांच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय ‘ईडी’ की एंट्री हो गई है। ईडी ने रीट पेपर लीक करने में करोड़ों का लेनदेन सामने आने के बाद प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट ‘पीएमएलए’ के तहत मामला दर्ज कर लिया है। जल्द सभी आरोपियों को ईडी समय जारी करने की तैयारी में है। अगले सप्ताह आरोपियों के ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई और पूछताछ शुरू होने की संभावना है।

फिलहाल रीट मामले कर जांच एसओजी कर रही है। 40 से ज्यादा आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं, जिनमें से 11 जमानत पर बाहर आ चुके हैं। मुख्य आरोपी रामकृपाल मीणा के स्कूल कॉलेज पर सरकार ने बुलडोजर चलवाकर गिरा दिया था। अब इस केस में ईडी की एंट्री होने के बाद सभी आरोपियों से पैसे के लेनदेन और उसके सोर्स को लेकर पूछताछ होगी। ईडी इन आरोपियों को गिरफ्तार कर सकती है। रीट धांधली में ईडी पहले उन आरोपियों पर फोकस कर रही है जिन्होंने पैसे का लेनदेन किया था।

ग्रीष्मावकाश में शिक्षक नहीं बैठ सकेंगे घर, दिया जाएगा प्रशिक्षण

आगामी ग्रीष्मावकाश में अगर कोई शिक्षक कहीं घूमने अथवा घर पर बैठने की सोच रहा है, वह गलत सोच रहा है। क्योंकि सरकार ग्रीष्मावकाश में शिक्षकों को प्रशिक्षण देने की कार्य योजना बना रही है। इस पर मुहर लगनी बाकी है। इस संबंध में गत दिनों स्कूल शिक्षा एवं भाषा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बुनियादी साक्षरता एवं संख्याज्ञान दक्षता पहल(एफएलएन) के प्रभावी क्रियान्वयन एवं सफल संचालन के लिए राज्य स्तर पर स्टेट स्क्रीनिंग कमेटी का गठन कर इसकी बैठक आयोजित की गई थी।

बैठक में मुख्य रूप से इस संबंध में चर्चा की गई कि एफएलएन को मिशन मोड में संचालित करने एवं नियमित लक्क्ष्यों को प्राप्त करने के लिए शिक्षकों के क्षमता संवर्द्धन के लिए प्रशिक्षण आयोजित किया जाना अपेक्षित है। इसके लिए ग्रीष्मावकाश में शिक्षकों के प्रशिक्षण आयोजित करने के लिए कार्ययोजना बनाने पर विचार किया गया। इस प्रशिक्षण की जिम्मेदारी निदेशालय, आरएससीआरटी उदयपुर एवं प्रशिक्षण प्रकोष्ठ स्कूल शिक्षा को सौंपी गई है। इसके अलावा लर्निग गैप्स को पूर्ण करने के लिए उपलब्ध कराई जा रही कार्य पुस्तिकाओं की विषय वस्तु को पाठ्यपुस्तकों में शामिल करने पर चर्चा की गई। इसकी जिम्मेदारी निदेशालय, आरएससीआरटी उदयपुर एवं प्रशिक्षण प्रकोष्ठ स्कूल शिक्षा को सौंपी गई है।

साथ ही विद्यार्थियों की प्रगति के आकलन के लिए उपलब्ध कराए जा रहे रिपोर्ट कार्ड के माध्यम से शैक्षिक प्रगति को अभिभावकों के मध्य नियमित अंतराल पर साझा करने को कहा गया है।

परीक्षा से मिलेगा प्रवेश, खत्म हुई 12वीं में अंकों की बादशाहत

केन्द्रीय विश्वविद्यालयों से पढ़ाई की इच्छा रखने वाले विद्यार्थियों के लिए ये साल थोड़ा अलग है। पहली बार केंद्रीय विश्वविद्यालयों में दाखिले के लिए एक कॉमन प्रवेश परीक्षा का आयोजन एनटीए करवा रही है। राज्यभर में फिलहाल 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं चल रही हैं जबकि अजमेर बोर्ड की परीक्षाएं खत्म होते ही सीबीएसइ के पेपर शुरू हो जाएंगे। कई राज्यों में तो 12वीं की परीक्षाएं संपन्न भी हो चुकी हैं। इन सबके बीच 12वीं से आगे की पढ़ाई और विश्वविद्यालयों में दाखिले की प्रक्रिया भी शुरू हुई है। दरअसल यूजीसी की ओर से हाल ही में नई शिक्षा नीति लागू की गई है। जिसके तहत अब 12वीं के विद्यार्थियों को सीयूइटी में हासिल किए गए स्कोर के आधार पर दाखिला मिल सकेगा।

नाम मात्र की फीस में टॉप की पढ़ाई: इस प्रवेश परीक्षा को पास करने के बाद किसीभी बोर्ड से पढ़ाई करने वाले विद्यार्थी का देश की सर्वश्रेष्ठ यूनिवर्सिटीज जैसे डीयू, एएमयू, जेएनयू.बीएचयू, जामिया मिलिया इस्लामिया तथा विश्व भारती विश्वविद्यालय समेत राज्यों के केंद्रीय विश्वविद्यालयों में पढ़ाई का सपना पूरा हो सकेगा। इन विश्वविद्यालयों में संचालित 50 से अधिक स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए साल में नाममात्र की फीस ही भरनी होती है।

राजस्थान की तमाम शिक्षा जगत की खबरों के लिए हमारे साथ बने रहें। हमारा Telegram Group जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

आपने यह खबर पढ़ी है हिन्दी न्यूज वेबसाईट news2know.in पर। यह स्टोरी जरूर शेयर करें।

- Advertisement -

Latest News

- Advertisement -

Latest Articles