Sri Lanka Crisis: सेकड़ों सरकार विरोधी प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति आवास में घुसे, पीएम रानिल विक्रमसिंघे ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

By N2K Staff

Follow Us

श्रीलंका की कमर्शियल कैपिटल कोलंबो में हजारों प्रदर्शनकारियों ने पुलिस बैरिकेड्स को तोड़कर राष्ट्रपति आवास में घुस गए है। ANI न्यूज एजेंसी के अनुसार इस साल श्रीलंका में सबसे बड़े सरकार विरोधी प्रदर्शनों में शनिवार को राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे के आधिकारिक आवास पर धावा बोल दिया। समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, राष्ट्रपति के अपने घर से भागने की खबरें सामने आने के बाद यह बात सामने आई है।

स्थानीय टीवी न्यूज न्यूजफर्स्ट चैनल के वीडियो फुटेज में दिखाया गया है कि कुछ प्रदर्शनकारी श्रीलंकाई झंडे और हेलमेट लिए हुए राष्ट्रपति के आवास में घुस गए। 22 मिलियन लोगों की आबादी वाला देश श्रीलंका एक गंभीर विदेशी मुद्रा की कमी से जूझ रहा है, विदेशी मुद्रा की कमी ने ईंधन, भोजन और दवा के आवश्यक आयात को सीमित कर दिया है, जिससे यह देश पिछले सात दशकों में सबसे खराब वित्तीय उथल-पुथल में डूब गया है।

समाचार एजेंसी Reuters ने एक प्रत्यक्षदर्शी के हवाले से कहा है कि कोलंबो के सरकारी जिले में हजारों लोगों ने राष्ट्रपति के खिलाफ नारेबाजी की और राजपक्षे के घर तक पहुंचने के लिए कई पुलिस बैरिकेड्स तोड़ दिए। गवाह ने कहा कि पुलिस ने हवा में गोलियां चलाईं, लेकिन पुलिस राष्ट्रपति आवास के आसपास से गुस्साई भीड़ को रोकने में नाकाम रही।

देश के सबसे खराब आर्थिक संकट को लेकर श्रीलंका सरकार के खिलाफ विरोध तेज होने के बीच शनिवार को कई प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति के आधिकारिक आवास और वाणिज्यिक राजधानी कोलंबो में उनके सचिवालय पर धावा बोल दिया।

उसी का वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसमें हजारों प्रदर्शनकारियों को महल की इमारत की ओर मार्च करते हुए दिखाया गया है। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार, राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे को सप्ताहांत में होने वाली रैली से पहले उनकी सुरक्षा के लिए शुक्रवार को आधिकारिक आवास से हटा दिया गया था।

श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर सनथ जयसूर्या ने कोलंबो में हालिया विरोध प्रदर्शन पर समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, “मैं विरोध का हिस्सा हूं और लोगों की मांग के साथ खड़ा हूं… यह विरोध तीन महीने से अधिक समय से चल रहा है।”

एक रक्षा सूत्र ने कहा कि श्रीलंका के संकटग्रस्त राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे शनिवार को राजधानी में अपने आधिकारिक आवास से भाग गए। टेलीविजन फुटेज में दिखाया गया है कि प्रदर्शनकारी नेता के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं और उन्होंने परिसर में धावा बोल दिया और राष्ट्रपति के आधिकारिक आवास का इस्तेमाल किया। 22 मिलियन लोगों का यह द्वीप एक गंभीर विदेशी मुद्रा की कमी से जूझ रहा है, जिसने ईंधन, भोजन और दवा के आवश्यक आयात को सीमित कर दिया है, जिससे यह सात दशकों में सबसे खराब वित्तीय उथल-पुथल में डूब गया है।

श्रीलंका में लगातार गहराते संकट के मद्देनजर श्रीलंका के सभी स्कूल 15 जुलाई तक बंद कर दिए गए है। प्रधान मंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने पार्टी नेताओं से कहा है कि वह देश के प्रधान मंत्री के रूप में इस्तीफा देने और सर्वदलीय सरकार के लिए रास्ता बनाने के लिए तैयार हैं: पीएमओ

Share This Article
- Advertisement -

Latest News

- Advertisement -